Category Archives: विश्लेषण

भारत में आसन्न वर्ग-संघर्ष की पृष्ठभूमि

मार्क्स ने जिस अर्थ में ‘वर्ग-संघर्ष’ की बात की थी, यह सही है कि भारत में विशुद्ध रूप से वैसे किसी वर्ग-संघर्ष की स्थिति अब तक नहीं बन पाई। लेकिन बीसवीं शताब्दी के दौरान भारतीय समाज में कई स्तरों पर … Continue reading

Posted in विश्लेषण | 8 Comments